Twitter के पूर्व CEO जैक डॉर्सी का चौंकाने वाला दावा: कहा- किसान आंदोलन के समय भारत सरकार ने धमकाया था, ये अकॉउंटस बंद करने को कहे

Twitter Ex CEO Jack Dorsey on Indian GovtTwitter Ex CEO Jack Dorsey on Indian Govt
Spread the love

Twitter Ex CEO Jack Dorsey on Indian Govt: भारत सरकार पर बेहद गंभीर आरोप लगे हैं. ट्विटर के पूर्व सीईओ जैक डॉर्सी ने एक इंटरव्यू के दौरान यह बयान दिया है कि दिल्ली में किसान आंदोलन के दौरान भारत सरकार ने ट्विटर पर दवाब डालने की कोशिश की और धमकाया। जैक डॉर्सी ने कहा कि, ट्विटर पर जिन अकाउंट्स से भारत सरकार की आलोचना की जा रही थी। जिनमें पत्रकारों के अकाउंट्स भी शामिल थे। उन्हें बंद करने को कहा गया। वहीं बंद नहीं करने पर भारत सरकार ने ट्विटर इंडिया के दफ्तर-कर्मचारियों पर छापेमारी की और गिरफ्तारियों की बात कही। यही नहीं भारत सरकार ने यह भी कहा कि, अगर ऐसा नहीं किया जाता है तो ट्विटर को भारत में पूरी तरह से बंद कर दिया जाएगा. भारत में ट्विटर के सभी दफ्तर बंद हो जाएंगे। जैक डॉर्सी ने कहा कि, यह सब तब हो रहा था जब भारत एक लोकतांत्रिक देश है.

भारत सरकार ने जवाब दिया

इधर, भारत सरकार ने ट्विटर के पूर्व सीईओ जैक डॉर्सी के सभी आरोपों को सिरे से खारिज कर दिया है। भारत सरकार के तकनीकी मंत्री राजीव चंद्रशेखर ने बिना देरी के जैक डॉर्सी के आरोपों पर लंबा-चौड़ा स्पष्टीकरण दिया है। केंद्रीय मंत्री राजीव चंद्रशेखर ने कहा कि, जैक डॉर्सी स्पष्ट रूप से बिलकुल झूठ बोल रहे हैं और सिर्फ कहानियां बना रहे हैं। भारत सरकार की तरफ से ऐसा कुछ भी नहीं किया गया। राजीव चंद्रशेखर ने कहा यह शायद ट्विटर के इतिहास के उस बहुत ही संदिग्ध दौर को मिटाने का प्रयास है।

ट्विटर ने भारतीय कानूनों का उल्लंघन किया

केंद्रीय मंत्री राजीव चंद्रशेखर ने आगे कहा कि, जैक डॉर्सी और उनकी टीम के शासन में ट्विटर भारतीय कानूनों का बार-बार उल्लंघन कर रहा था। 2020 से 2022 तक ट्विटर ने बार-बार भारतीय कानून तोड़े। चंद्रशेखर ने कहा कि, डॉर्सी और उनकी टीम को भारतीय कानून की संप्रभुता को स्वीकार करने में समस्या थी। ऐसा लग रहा था जैसे भारत के कानून ट्विटर पर लागू ही नहीं होते। भारतीय कानून का पालन करना आवश्यक नहीं है। लेकिन भारत सरकार शुरू से ही भारत में काम करने वाली सभी कंपनियों के लिए बहुत स्पष्ट रही है कि उन्हें हमेशा भारतीय कानून का पालन करना होगा।

केंद्रीय मंत्री राजीव चंद्रशेखर ने आगे कहा, एक संप्रभु राष्ट्र के रूप में भारत को यह सुनिश्चित करने का पूरा अधिकार है कि भारत में काम करने वाली सभी कंपनियां उसके कानूनों का पालन करें। चंद्रशेखर ने कहा 2021 में विरोध प्रदर्शनों के दौरान बहुत सारी गलत सूचनाएं और यहाँ तक कि नरसंहार की रिपोर्टें भी आईं जो कि श्चित रूप से नकली थीं। जिनको देखते हुए भारत सरकार को ऐसी गलत सूचनाओं को हटाने के लिए बाध्य होना पड़ा क्योंकि इससे स्थिति भड़का सकती थी। मगर जैक डॉर्सी के शाशन में ट्विटर का पक्षपातपूर्ण व्यवहार था। ट्विटर को गलत सूचना को हटाने में समस्या हुई।

कोई जेल नहीं गया, न तो ट्विटर बंद हुआ

केंद्रीय मंत्री राजीव चंद्रशेखर ने कहा कि, चीजों को सही करने के लिए भारत सरकार ने किसी पर छापा नहीं मारा और न ही किसी को जेल भेजा गया। भारत सरकार का ध्यान केवल भारतीय कानूनों का अनुपालन सुनिश्चित करने पर था। चंद्रशेखर ने कहा उस दौर के दौरान डॉर्सी के शासन में ट्विटर की मनमानी, स्पष्ट रूप से पक्षपातपूर्ण और भेदभावपूर्ण आचरण और अपनी शक्ति के दुरुपयोग को लेकर सार्वजनिक डोमेन में पर्याप्त सबूत हैं। केंद्रीय मंत्री ने कहा भारत में सक्रिय सभी मध्यस्थों के लिए हमारी सरकार की नीतियां स्पष्ट हैं. इंटरनेट सुरक्षित और भरोसेमंद और जवाबदेह है और भारत सरकार इसे हर हाल में सुनिश्चित करती है।

अब एलन मस्क है ट्विटर के मालिक

बहराल, अब ट्विटर एलन मस्क के हाथ में है। एलन मस्क ने हाल ही में ट्विटर को खरीद लिया था। वहीं डॉर्सी 2021 में Twitter CEO के पद से इस्‍तीफा दे चुके हैं।

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *