ट्राइसिटी के गायक अयोध्या में सम्मानित कहा, हिन्दू के लिए इससे बड़ी बात क्या हो सकती है

By Firmediac news Nov 6, 2023
Spread the love


मोहाली 6 नवंबर (गीता)। हिंदुत्व को समर्पित गीत हिंदू हो तो हाथ में मौली होनी चाहिए, की जबरदस्त प्रतिक्रिया पर गीत के गायक रमन दीवान को हिंदू सनातन को जगाने के लिए राम की नगरी अयोध्या में हल ही में स्वामी विवेकानंद एजुकेशन ग्रुप द्वारा आयोजित एक सम्मान समारोह में अवध रत्न सम्मान से सम्मानित किया गया। यह सम्मान उन्हें राष्ट्रीय सरस्वती ज्योतिष केंद्र के अध्यक्ष ज्योतिष आचार्य पंडित ज्ञान प्रकाश मिश्रा और जिला पंचायत सदस्य समाजसेवी प्रदीप यादव द्वारा प्रदान किया गया।
रमन दीवान ने सम्मान प्राप्त करने के उपरांत कहा की मैं काफी गर्व महसूस कर रहा हूँ। एक हिन्दू के लिए इससे बड़ी बात क्या हो सकती है की उसे मर्यादा पुरुषोत्तम श्री राम की पवित्र भूमि अयोध्या में सम्मानित किया गया हो। हिंदू हो तो हाथ में मौली होनी चाहिएश् गीत मेरा एक ऐसा प्रयास है जो हिन्दुओं को अपनी पहचान समझाता है ताकि सनातन धर्म को मानने वाले भी अपनी एक अलग पहचान बना सके और पुरे विश्वास में एक हिन्दू होने के लिए जाने जाएँ। मेरा गीत यह जागरूकता फैला रहा है कि जो हाथ में मौली और माथे पे टिक्का लगाते हैं वो हिन्दू है। कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे संस्था के अध्यक्ष डॉ राहुल यादव ने जानकारी देते हुए बताया कि रमन दीवान ने जो अपने गीत हिंदू हो तो हाथ में मौली होनी चाहिए के माध्यम से हिंदू समाज को जोड़ने के लिए एक मुहिम चलाई है वो बहुत ही सराहनीय है और इस तरह का प्रचार करने से लोगों में एकता और अपने धर्म के प्रति गर्व पैदा होगा।

 

Related Post

सिविल सेवा (ईबी) सेवानिवृत्त ऑफिसर्स एसोसिएशन द्वारा प्रकाशित “द गोल्डन एरा” किताब विमोचन  के लिए हिंदी प्रेस नोट   सांसद सतनाम सिंह संधू ने पंजाब सिविल सेवा के सेवानिवृत्त अधिकारियों से भारत के विकास के दृष्टिकोण का नेतृत्व करने की अपील   सांसद सतनाम सिंह संधू ने पंजाब सिविल सेवा के सेवानिवृत्त अधिकारियों के प्रयासों की सराहना ,  राष्ट्र निर्माण में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने के लिए की अपील   पंजाब सिविल सेवा के सेवानिवृत्त अधिकारियों ने लोगों को ‘द गोल्डन एरा’ पुस्तक  की रिलीज़, सांसद संधू ने इस पहल की सराहना   सांसद संधू ने देश के विकास में योगदान देने वाले सेवानिवृत्त अधिकारियों के अनुभव के महत्व पर दिया जोर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *