ब्रह्म कमल एक ऐसा फूल है जिसे ब्रह्मदेव का ही रूप माना जाता हैः र्कनल जोंिगंदर सिंह-आचार्य वीरेन्द्र शास्तरी मोहाली निवासी कर्नल के घर की शोभा बढा रहा ब्रह्म कमल फूल

By Firmediac news Nov 21, 2023
Spread the love

 

मोहाली 21 नवंबर (गीता)। ब्रह्म कमल एक ऐसा फूल है जिसे ब्रह्मदेव का ही रूप माना जाता है। इस फूल को सामान्य कमल से कही ज्यादा प्रभावकारी माना गया है। लोगों की मान्यता है कि ब्रह्म कमल फूल के खिलने पर भगवान विष्णु की शैय्या की आकृति इस पर दिखाई देती है। यह फूल न सिर्फ साल में एक बार खिलता है बल्कि इस फूल का खिलना बेहद कठिन माना जाता है। लेकिन परमात्मा की इतनी आपार कृपा है कि सैक्टर-71 निवासी कर्नल जोंिगंदर सिंह की बगियां/ निवास की शोभा ब्रह्म कमल फूल साल में एक बार नहीं बल्कि चौथी बार खिल रहा है जिसे देख कर र्कनल और उनके परिवार के अलावा दोस्त काफी खुश हैं । उपरोक्त विचार सोमवार की रात साढे दस बजे कर्नल जोगिंदर सिंह और उनकी धर्मपत्नी और कर्नल के धार्मिक कार्यो में हाथ बढाने वाले उनके पुजारी आचार्य वीरेन्द्र शास्तरी ने मीडिया कर्मियों को ब्रह्म कमल फूल के खिलने और बंद होने के साथ-साथ उसकी विशेषताओं का जिक्र करते हुए व्यक्त किया ।
कर्नल जोगिंदर सिंह और उनके परिवारिक सदस्यों ने बताया कि ब्रह्म कमल फूल की चौथी पीढी है जो उनके घर की शोभा बढा रहा है और यह फूल का पौधा उनके परिवार को उनके दोस्त की ओर से तोहफे के तौर पर दिया गया था, आचार्य वीरेन्द्र शास्तरी और कर्नल जोगिंदर सिंह ने बताया कि जब इस पौधे एवम फूल का घर के आंगन में खिलना शुरू हुआ है घर में सुख-समृद्वि और कारोबार में वृद्वि हुई है और सबसे बडी बात यह है कि यह पफूल रोजाना रात को 10 बजे के करीब पूरे जोबन पर खिलता है और करीब दो बजे देर रात तक बंद हो जाता है और फिर दूबारा नहीं खिलता ।
उन्होंने कहा कि साल में एक बार खिलने के कारण इस फूल का महत्व बहुत है और इस फूल का घर में खिलना दैवीय कृपा का संकेत माना जाता है। यह फूल जिस घर में खिलता है उस घर में मां लक्ष्मी का वास हमेंशा बना रहता है। लेकिन इससे भी बडी हैरानी की बात मोहाली के सैक्टर-71 में जहां इस पौधे का पैदा होना और फिर फूल खिलना और वो भी एक बार नहीं कई बार तो भी एक दैविय शक्ति के अलावा और कुछ नहीं हैं । उन्होंने कहा कि यह भी माना जाता है कि जो भी व्यक्ति इस फूल को खिलते हुए देख ले उसके व्यारे-न्यारे हो जाते हैं। व्यक्ति के जीवन में शुभ ही शुभ होने लग जाता है। कर्ज की समस्या, अटका हुआ धन, पैसों की कमी आदि जो भी परेशानियां है दूर हो जाती हैं। पंडित वीरन्द्र शास्तरी ने बताया कि वैसे यह फूल पहाडों के इलाकों में होता है लेकिन मोहाली में होना एक हैरान करने वाली बात है और इसे आम फूल नहीं समझना चाहिए एक बार व्यक्ति को सच्चे हदय के साथ ब्रह्म कमल फूल के दर्शन जरूर करने चाहिए । उन्होंने कहा कि वैज्ञानिक दृष्टि से भी इस कमल के फूल के पानी में रख कर उसका पानी पीने से व्यक्ति का इम्यूनिटी सिस्टम काफी तगडा हो जाता है । उन्होंने बताया कि जिस व्यक्ति को इस फूल के बारें में नॉलेज है तो पफूल के दर्शन करने के लिए जरूर आता है ।

 

 

Related Post

सिविल सेवा (ईबी) सेवानिवृत्त ऑफिसर्स एसोसिएशन द्वारा प्रकाशित “द गोल्डन एरा” किताब विमोचन  के लिए हिंदी प्रेस नोट   सांसद सतनाम सिंह संधू ने पंजाब सिविल सेवा के सेवानिवृत्त अधिकारियों से भारत के विकास के दृष्टिकोण का नेतृत्व करने की अपील   सांसद सतनाम सिंह संधू ने पंजाब सिविल सेवा के सेवानिवृत्त अधिकारियों के प्रयासों की सराहना ,  राष्ट्र निर्माण में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने के लिए की अपील   पंजाब सिविल सेवा के सेवानिवृत्त अधिकारियों ने लोगों को ‘द गोल्डन एरा’ पुस्तक  की रिलीज़, सांसद संधू ने इस पहल की सराहना   सांसद संधू ने देश के विकास में योगदान देने वाले सेवानिवृत्त अधिकारियों के अनुभव के महत्व पर दिया जोर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *