उत्तराखंड में हाहाकार: दर्दनाक हादसे से दहला चमोली, ट्रांसफार्मर फटने से दौड़ा करंट, 15 लोगों की मौत, कई घायल

Uttarakhand 15 Deaths Due To CurrentUttarakhand 15 Deaths Due To Current
Spread the love

Uttarakhand 15 Deaths Due To Current: उत्तराखंड के लिए बुधवार का दिन अच्छा नहीं रहा. एक दर्दनाक हादसे ने यहां कई जिंदगियां छीन लीं और हाहाकार मचा दिया. दरअसल, उत्तराखंड के चमोली जिले में अचानक एक ट्रांसफार्मर फटने से ऐसा करंट दौड़ा कि एक साथ 15 लोगों को मौत के घाट उतार दिया. जबकि करंट लगने से कई लोग घयल भी हुए. गंभीर रूप से घायल हुए लोगों को CM पुष्कर सिंह धामी के आदेश पर इलाज के लिए हेलीकॉप्टर के जरिए एम्स ऋषिकेश में शिफ्ट किया गया है।

वहीं अन्य घायलों का इलाज के लिए नजदीकी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। हादसे पर दुःख जताते हुए CM पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि, घायलों की हर संभव मदद की जा रही है. हादसे को लेकर मजिस्ट्रियल जांच के आदेश भी दे दिए हैं। बताया जा रहा है कि, हादसे में एक पुलिस सब-इंस्पेक्टर और 3 होम गार्ड जवानों की भी मौत हो गई है।

अलकनंदा नदी के किनारे ट्रांसफार्मर फटा

मिल रही जानकारी के अनुसार, चमोली जिले में यह दर्दनाक हादसा अलकनंदा नदी के किनारे ट्रांसफार्मर फटने के चलते हुआ। बताया जा रहा है कि, ट्रांसफार्मर फटने के बाद करंट दौड़ गया। लोगों को बचने का मौका नहीं मिल सका और वह करंट की चपेट में आकर बुरी तरह झुलस गए। ADG लॉ-ऑर्डर देहरादून वी. मुरुगेसन ने बताया कि, करंट लगने से 15 लोगों की मृत्यु की सूचना मिल रही है। आगे की विधिक कार्रवाई जारी है। एक पुलिस सब-इंस्पेक्टर और 3 होम गार्ड भी हादसे का शिकार हुए हैं।

 

Related Post

सिविल सेवा (ईबी) सेवानिवृत्त ऑफिसर्स एसोसिएशन द्वारा प्रकाशित “द गोल्डन एरा” किताब विमोचन  के लिए हिंदी प्रेस नोट   सांसद सतनाम सिंह संधू ने पंजाब सिविल सेवा के सेवानिवृत्त अधिकारियों से भारत के विकास के दृष्टिकोण का नेतृत्व करने की अपील   सांसद सतनाम सिंह संधू ने पंजाब सिविल सेवा के सेवानिवृत्त अधिकारियों के प्रयासों की सराहना ,  राष्ट्र निर्माण में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने के लिए की अपील   पंजाब सिविल सेवा के सेवानिवृत्त अधिकारियों ने लोगों को ‘द गोल्डन एरा’ पुस्तक  की रिलीज़, सांसद संधू ने इस पहल की सराहना   सांसद संधू ने देश के विकास में योगदान देने वाले सेवानिवृत्त अधिकारियों के अनुभव के महत्व पर दिया जोर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *